RailTel ans ESRI India signed MoU to provide Cloud-based Geospatial Infrastructure

Sarkaritel
By Sarkaritel May 26, 2022 13:15

RailTel ans ESRI India signed MoU to provide Cloud-based Geospatial Infrastructure


Indo ArcGIS on RailTel Cloud to enablegovernment program rollouts with robust & scalable GIS products.

RailTel with its two Tier III data centers and over 61000 Kms of Optic Fiber Network is uniquely positioned to support government organizations in deploying their GIS applications on a secure public Cloud: Mrs. Aruna Singh, CMD, RailTel.

The convergence of GIS and Cloud technology opens new avenues for building the Geospatial Infrastructure in India: Mr. Agendra Kumar, Managing Director, Esri India.

********

New Delhi, May 26: RailTel Corporation of India Ltd., a Central Government PSU under the Ministry of Railways and Esri India, the country’s leading Geographic Information System (GIS) Software & Solutions provider, have signed an MoU to provide Cloud-based GIS Solutions to their users in the ‘Government Sector’. This collaboration will address the strong emerging demand for ‘GIS on Cloud’.

With the Government’s increasing focus on using GIS for various national programs such as Digital India, Gati Shakti, Svamitva, Smart Cities, Jal Jeevan Mission, etc., the availability of robust and scalable Geospatial Infrastructure has become a huge need of the hour. Esri India, being always at the forefront of technological innovation,has already developed a unique product called Indo ArcGIS for Indian government customers. Apart from GIS technology products, the Indo ArcGIS suite includes industry-specific solution products for Disaster Management, Forest Management, Land Records, Electric Utility Management, Property Tax Management and many more. In addition, 500+ data layers are available to customers through the Indian edition of ArcGIS Living Atlas.

With Esri India and RailTel’s partnership, ‘Indo ArcGIS on Cloud’ would now be available on RailTel Cloud, giving customers the much-needed advantage of scalability, agility and cost-efficiency. Joint offerings would include software, cloud infrastructure and related services. This will help government organizations reduce costs and complexity by moving from on-premises infrastructure to Cloud and speed up the use of GIS in their initiatives and programs.

Talking about it, Aruna Singh, CMD, RailTel, said, “Geospatial Infrastructure is fast becoming the backbone of many new strategic initiatives of both central and state governments in India. RailTel with its 2 Tier III data centers and over 61000 Kms of Optic Fiber Network is uniquely positioned to support government organizations in deploying their GIS applications on a secure public cloud. With this partnership with Esri India, we intend to offer a reliable, secure and managed GIS Infrastructure for large government programs and projects.”

Agendra Kumar, Managing Director, Esri India, said, “The convergence of GIS and Cloud technology opens new avenues for building the Geospatial Infrastructure in India. The solutions and data products included in Indo ArcGIS are created with the aim to help the government and private organizations solve the most pressing problems of the country effectively with GIS. To facilitate enhanced collaboration and more informed decision-making at a lower cost, we are now offering Indo ArcGIS on Cloud. RailTel offers the best-in-class secured Cloud infrastructure. Our partnership with RailTel will foster accelerated GIS deployment and provide the power of ‘geospatial infrastructure on Cloud’to our Indo ArcGIS users.”


रेलटेल और एसरी इंडिया (Esri India) ने क्लाउड-आधारित ‘Geospatial Infrastructure’ प्रदान करने के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए।
 
रेलटेल क्लाउड पर इंडो आर्कजीआईएस (Indo ArcGIS) मजबूत और स्केलेबल जीआईएस उत्पादों के साथ सरकारी कार्यक्रम रोलआउट को सक्षम करेगा ।
 
रेलटेल अपने दो टियर III डेटा केंद्रों और 61000 किलोमीटर से अधिक ऑप्टिक फाइबर नेटवर्क के साथ सरकारी संगठनों को एक सुरक्षित सार्वजनिक क्लाउड पर अपने जीआईएस ऍप्लिकेशन्स को तैनात करने के लिए सहयोग करने की विशिष्ट स्तिथि में है: श्रीमती अरुणा सिंह, सीएमडी, रेलटेल।
 
जीआईएस और क्लाउड प्रौद्योगिकी का कन्वर्जेन्स(convergence) भारत में भू-स्थानिक (Geospatial Infrastructure) बुनियादी ढांचे के निर्माण के लिए नए रास्ते खोलता है: श्री अगेंद्र कुमार, प्रबंध निदेशक, एसरी इंडिया।
 
*********
.रेलटेल कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड, रेल मंत्रालय के तहत एक केंद्र सरकार का सार्वजनिक उपक्रम और देश की प्रमुख भौगोलिक सूचना प्रणाली (जीआईएस) सॉफ्टवेयर और समाधान प्रदाता एसरी इंडिया (Esri India) ने अपने ‘सरकारी क्षेत्र’ के उपयोगकर्ताओं को क्लाउड-आधारित जीआईएस समाधान प्रदान करने के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। यह सहयोग ‘जीआईएस ऑन क्लाउड’ की मजबूत उभरती मांग को पूरा करेगा।
 
डिजिटल इंडिया, गति शक्ति, स्वमित्वा ( Svamitva), स्मार्ट सिटीज, जल जीवन मिशन आदि जैसे विभिन्न राष्ट्रीय कार्यक्रमों के लिए जीआईएस का उपयोग करने पर सरकार विशेष ध्यान दे रही है जिससे मजबूत और स्केलेबल भू-स्थानिक बुनियादी ढांचे (Geospatial Infrastructure ) की उपलब्धता पहले से ही समय की एक बड़ी आवश्यकता बन गई है। Esri India, हमेशा तकनीकी इनोवेशन में सबसे आगे रहा है, और वह पहले से ही भारत सरकार के ग्राहकों के लिए Indo ArcGIS नामक एक अनूठा उत्पाद विकसित कर चुका है। जीआईएस प्रौद्योगिकी उत्पादों के अलावा, इंडो आर्कजीआईएस (Indo ArcGIS)सूट में आपदा प्रबंधन, वन प्रबंधन, भूमि रिकॉर्ड, इलेक्ट्रिक यूटिलिटी प्रबंधन, संपत्ति कर प्रबंधन और कई अन्य के लिए उद्योग-विशिष्ट समाधान उत्पाद शामिल हैं। इसके अलावा, आर्कजीआईएस (ArcGIS) लिविंग एटलस के भारतीय संस्करण के माध्यम से ग्राहकों के लिए 500+ डेटा परतें उपलब्ध हैं।
 
Esri India और रेलटेल की साझेदारी के हो जाने से, ‘इंडो आर्कजीआईएस ऑन क्लाउड’ अब रेलटेल क्लाउड पर उपलब्ध होगा, जिससे ग्राहकों को स्केलेबिलिटी, चपलता (Agility) और लागत-दक्षता का बहुत जरूरी लाभ मिलेगा। संयुक्त पेशकश में सॉफ्टवेयर, क्लाउड इंफ्रास्ट्रक्चर और संबंधित सेवाएं शामिल होंगी। यह सरकारी संगठनों के ऑन-प्रिमाइसेस बुनियादी ढांचे को क्लाउड में स्थानांतरित करके लागत और जटिलता को कम करने में मदद करेगा और उनकी पहलों और कार्यक्रमों में जीआईएस के उपयोग को गति देगा।
 
इसके बारे में बात करते हुए, रेलटेल की सीएमडी, श्रीमती अरुणा सिंह ने कहा, “भू-स्थानिक अवसंरचना (Geospatial Infrastructure) तेजी से भारत में केंद्र और राज्य दोनों सरकारों की कई नई रणनीतिक पहलों की रीढ़ बन रही है। रेलटेल अपने दो टियर III डेटा केंद्रों और 61000 किलोमीटर से अधिक ऑप्टिक फाइबर नेटवर्क के साथ सरकारी संगठनों को एक सुरक्षित सार्वजनिक क्लाउड पर अपने जीआईएस ऍप्लिकेशन्स को तैनात करने के लिए सहयोग करने की विशिष्ट स्तिथि में है ।  Esri India के साथ इस साझेदारी के साथ, हम बड़े सरकारी कार्यक्रमों और परियोजनाओं के लिए एक विश्वसनीय, सुरक्षित और प्रबंधित GIS इन्फ्रास्ट्रक्चर की पेशकश करने का इरादा रखते हैं” ।
 
एसरी इंडिया के प्रबंध निदेशक श्री अगेंद्र कुमार ने कहा, “जीआईएस और क्लाउड प्रौद्योगिकी के कन्वर्जेन्स (convergence)  से भारत में भू-स्थानिक बुनियादी ढांचे (Geospatial Infrastructure) के निर्माण के लिए नए रास्ते खुलते हैं। इंडो आर्कजीआईएस (Indo ArcGIS) में शामिल समाधान और डेटा उत्पाद सरकारी और निजी संगठनों को जीआईएस के माध्यम से देश की जरुरी समस्याओं को प्रभावी ढंग से हल करने में मदद करने के उद्देश्य से बनाए गए हैं। कम लागत पर बेहतर सहयोग और अधिक सूचित निर्णय लेने की सुविधा के लिए, अब हम क्लाउड पर इंडो आर्कजीआईएस (Indo ArcGIS on Cloud) की पेशकश कर रहे हैं। रेलटेल अपनी श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ सुरक्षित क्लाउड इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रदान करता है। रेलटेल के साथ हमारी साझेदारी त्वरित जीआईएस परिनियोजन को बढ़ावा देगी और हमारे इंडो आर्कजीआईएस उपयोगकर्ताओं को ‘क्लाउड पर भू-स्थानिक बुनियादी ढांचे’ (geospatial infrastructure on Cloud) की शक्ति प्रदान करेगी।”
Sarkaritel
By Sarkaritel May 26, 2022 13:15