REC RECORDS ITS HIGHEST EVER QUARTERLY PROFIT AT RS. 2,263 CRORES

Sarkaritel
By Sarkaritel February 4, 2021 21:35

REC RECORDS ITS HIGHEST EVER QUARTERLY PROFIT AT RS. 2,263 CRORES


New Delhi, 4 February 2021:The Board of Directors of REC Limited approved the unaudited standalone and consolidated financial results for Q3&9MFY21.

Operational and Financial Highlights – Q3 FY21 vs Q3 FY20 (Standalone)

Total Income – Rs.9,047crore vs. Rs. 7,653 crore, up 18%

Net Profit – Rs. 2,263 crore vs. Rs. 1,642 crore, up 38%

With healthy operational performance during the quarter, the company has clocked its all-time highest quarterly profit of Rs. 2,263 crore during Q3 FY21, as against Rs. 1,642 crore during Q3 FY20. This translates to Earnings Per Share (EPS) (non-annualized) of Rs. 11.46for the quarter ended 31 December 2020 as against Rs. 8.32 per share during the same quarter last year.

The loan book has grown from Rs. 3.07 lakh crores as on 31 December 2019 to Rs. 3.57 lakh crores as on 31 December 2020. Aided by the profits, the Net Worth of the Company as at 31 December 2020 has reached Rs. 41,749 crore with book value at Rs. 211 per share. The Capital Adequacy Ratio of the Company has also improvedsequentially to19.27% as on31 December 2020 which will aid the future growth for the Company.

With no incremental slippages and sustained trend of resolutions, the Net Credit-impaired assets have reduced to 1.95% as on 31 December 2020 with the Provisioning Coverage Ratio inching higher to 61.87%.


आरईसी को अब तक का सर्वाधिक 2,263करोड़ रूपए का तिमाही लाभ

 

नई दिल्ली,4फरवरी 2021:आरईसी लिमिटेड के निदेशक मंडल द्वारा वित्तीय वर्ष 2020-21 कीतीसरी तिमाही और नौमाही के अलेखापरीक्षित स्टैण्डअलोन और कंसोलिडेटेडवित्तीय परिणामों को जारी किया गया।

प्रमुख प्रचालन एवंवित्तीय बिंदु- वित्तीय वर्ष 2019-20 कीतीसरीतिमाही और वित्तीय वर्ष 2020-21 की तीसरीतिमाही की तुलना (स्टैंडअलोन)

कुल आय-  7,653करोड़ रूपएसे बढ़कर 9,047करोड़ रूपए,18%की वृद्धि

निवल लाभ-  1,642करोड़ रूपएसे बढ़कर 2,263करोड़ रूपए,38% की वृद्धि

प्रचालन संबंधी मजबूत प्रदर्शन के साथ मौजूदा तिमाही के दौरान, कंपनी ने वित्तीय वर्ष 2019-20 की तीसरी तिमाही के1,642करोड़ रूपए की तुलना में वित्तीय वर्ष 2020-21 की तीसरीतिमाही में2,263करोड़ रूपए का अब तक का सर्वाधिक तिमाही लाभ दर्ज किया है। इससे कंपनी ने 31 दिसंबर 2019 को समाप्त तिमाही के 8.32 रूपए की तुलना में 31 दिसंबर 2020 को समाप्त तिमाही में 11.46 रूपएप्रति शेयर कमाई (ईपीएस)(अवार्षिकीकृत) दर्ज की है।

कंपनी की लोन बुक 31दिसंबर, 2019 के 3.07 लाख करोड़ रूपए से बढ़कर 31दिसंबर, 2020को3.57 लाख करोड़ रूपएहो गई है। लाभ के जुड़ने से 31दिसंबर, 2020 को, 211 रूपए प्रति शेयर बुक वैल्यू के साथ कंपनी का निवल मूल्य बढ़कर 41,749करोड़ रूपएहो गया है। कंपनी के कैपिटल एडिक्वेसी अनुपात में भी इसी रूप में सुधार हुआ है और यह 31दिसंबर, 2020 को 19.27 प्रतिशत हो गया है,जिससे कंपनी की वृद्धि की रफ्तार आगे भी बनी रहगी।

रेजलूशंस के बिना किसी सस्टेंड ट्रेंड और इंक्रीमेंटल स्लिपेजेज के नेट क्रेडिट-इंपेयर्ड एसेट्स घटकर 31दिसंबर, 2020 को 1.95% प्रतिशत हो गए हैं और प्रोविजनिंग कवरेज रेशियो बढ़कर 61.87%हो गया है। 

वित्तीय परिणामों पर चर्चा करते हुए,अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक श्री संजय मल्होत्रा ने कहा,चुनौतीपूर्ण समय के दौरान,कंपनी ने बेहतर प्रदर्शन करते हुए पिछली तीन तिमाहियों में लगातार अब तक का सर्वाधिक लाभ दर्ज किया है। आर्थिक गतिविधियांबेहतर होने के साथ ही बिजली की खपत में भी सुधार होगा, इसलिए विद्युत क्षेत्र के भविष्य के प्रति हमारा दृष्टिकोण आशावादीहै। केंद्रीय बजट में, अगले 5 वर्षों में 3 लाख करोड़ रूपए से अधिक के अपेक्षित परिव्यय के साथवितरण क्षेत्र की सुधार पर आधारित परिणाम से जुड़ी योजना घोषित की गई है,जो संपूर्ण विद्युत क्षेत्र के वैल्यू चेन के लिए एक सकारात्मक संकेत है।”

Sarkaritel
By Sarkaritel February 4, 2021 21:35