RailTel makes special arrangements for providing Communication to standard passengers of the two trains stuck last week on Lumding-Badarpur hill section in Assam

Sarkaritel
By Sarkaritel May 18, 2022 19:50

RailTel makes special arrangements for providing Communication to standard passengers of the two trains stuck last week on Lumding-Badarpur hill section in Assam


RailTel makes special arrangements for providing Communication using Station Wi-Fi to stranded passengers of the two trains stuck last week on Lumding-Badarpur hill section in Assam because of heavy rains which led to total break-down of mobile services of all mobile operators in the affected area. 

The affected area falls under Lumding Railway division of Northeast Frontier Railway (N. F.R) 

Passengers could communicate with their relatives and families about their well-being using this special arrangement. 

The Railway Administration also used this connectivity facility for organising relief and rescue operation effectively. 

The Wi-Fi facility already available at Railway stations provided by RailTel Corporation (A Mini Ratna Central Government PSU of Ministry of Railways) proved very useful in providing this connectivity. 

Local RailTel staff rose to the occasion to make this arrangement technically feasible.

The users of this facility were quite appreciative of Railways and felt satisfied.

New Delhi, May 18: Inclement weather and incessant rain led to cause massive landslides and water logging at several locations in Lumding (District:Hojai)- Badarpur (District: Karimganj) hill section in Assam falling under Lumding Railway division of Northeast Frontier Railway (N. F.R). Massive landslides and water logging resulted in huge damages to the railway track, bridges, road and communication network in this hilly terrain early this week.

NFR Railway zone had geared up its entire machinery and controlled train services over the affected section due to this serious condition. However, two trains got stranded in these flash floods each with about 1400 passengers – one Train No. 15616 Silchar – Guwahati express at Ditokcherra station (District:Dima Hasao, Assam) and another Train No. 15615 Guwahati – Silchar express at New Haflong station (District:Dima Hasao, Assam). Railway Administration initiated massive evacuation operation with the help of Air Force, The Railway Protection Force (RPF) National Disaster Response Force. (NDRF), Assam Rifles and local people.

But another big challenge was to find some solution for total break-down of mobile services of all mobile operators in the affected area which left passengers and railway administration isolated from the world. Passengers were unable to communicate with their relatives and families about their well-being causing unrest and anxiety to them.

In this difficult situation the Wi-Fi facility already available at Railway stations provided by RailTel Corporation (A Mini Ratna Central Government PSU of Ministry of Railways) proved very useful in providing connectivity. Local RailTel staff rose to the occasion working shoulder to shoulder with NFR administration and made special arrangements for passengers to use station Wi-Fi to contact their families. The Railway Administration also used this connectivity facility for organising relief and rescue operation effectively. This special arrangement was done by temporarily suspending the requirement of OTP on the mobile phone of a user, as required under standard procedure for authentication purpose as mobile services were down in that area.

This connectivity was provided at – Ditokcherra (Station Code:DTC), New Harangajao (Station code: NHGJ), New Halflong (Station Code:NHLG) all in Dima Hasao District, Damcherra (Station Code: DCA)in  Cachar District in Assam falling under Lumding divison of NFR.

The users of this facility were quite appreciative of Railways and felt satisfied.


रेलटेल पिछले सप्ताह असम में लुमडिंग-बदरपुर पहाड़ी खंड पर भारी बारिश के कारण रुकी हुई दो ट्रेनों के फँसे हुए यात्रियों को कम्युनिकेशन कनेक्टिविटी प्रदान करने के लिए विशेष व्यवस्था की, क्योंकि प्रभावित क्षेत्र में सभी मोबाइल ऑपरेटरों की मोबाइल सेवाएं पूरी तरह से ठप हो गईं थीं ।

प्रभावित क्षेत्र पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे (N. F.R) के लुमडिंग रेलवे डिवीजन के अंतर्गत आता है।

यात्री इस विशेष व्यवस्था का उपयोग करके अपने रिश्तेदारों और परिवारों के साथ अपनी कुशलता के बारे में संवाद कर पाए ।

रेल प्रशासन ने भी इस कनेक्टिविटी सुविधा का उपयोग राहत और बचाव अभियान को प्रभावी ढंग से आयोजित करने के लिए किया।

रेलटेल कॉर्पोरेशन (रेल मंत्रालय का एक मिनी रत्न केंद्र सरकार का सार्वजनिक उपक्रम) द्वारा रेलवे स्टेशनों पर पहले से उपलब्ध कराई गई वाई-फाई सुविधा इस कनेक्टिविटी को प्रदान करने में बहुत उपयोगी साबित हुई।

इस व्यवस्था को तकनीकी रूप से व्यवहार्य बनाने के लिए स्थानीय रेलटेल कर्मचारियों ने आगे बढ़कर काम किया ।

इस सुविधा के उपयोगकर्ताओं ने रेलवे की काफी सराहना की और संतुष्ट महसूस किया ।

**

खराब मौसम और लगातार बारिश के कारण पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे (N.F.R) के लुमडिंग रेलवे डिवीजन के अंतर्गत आने वाले असम के लुमडिंग (जिला: होजई)-बदरपुर (जिला: करीमगंज) पहाड़ी खंड में कई स्थानों पर पिछले सप्ताह बड़े पैमाने पर भूस्खलन और जल भराव हुआ। भारी भूस्खलन और जलभराव के कारण इस पहाड़ी इलाके में रेलवे ट्रैक, पुलों, सड़क और संचार नेटवर्क को भारी नुकसान पहुंचा ।

एनएफआर रेलवे जोन ने इस गंभीर स्थिति को देखते हुए प्रभावित खंड पर अपनी पूरी मशीनरी को तैयार कर लिया और ट्रेन सेवाओं को नियंत्रित किया । हालांकि, इस आकस्मिक बाढ़ में प्रत्येक लगभग 1400 यात्रियों के साथ दो ट्रेनें फंस गईं – एक ट्रेन नंबर 15616 सिलचर – गुवाहाटी एक्सप्रेस डिटोकचेरा स्टेशन (जिला: दीमा हसाओ, असम) पर और दूसरी ट्रेन नंबर 15615 गुवाहाटी – सिलचर एक्सप्रेस न्यू हाफलोंग स्टेशन (जिला: दीमा हसाओ, असम) पर। रेलवे प्रशासन ने वायु सेना, रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ), NDRF, असम राइफल्स और स्थानीय लोगों की मदद से बड़े पैमाने पर निकासी अभियान शुरू किया।

लेकिन एक और बड़ी चुनौती प्रभावित क्षेत्र के सभी मोबाइल ऑपरेटरों की मोबाइल सेवाओं के पूरी तरह से ठप होने का कोई समाधान खोजना था, जिसने यात्रियों और रेलवे प्रशासन को दुनिया से अलग-थलग कर दिया था। यात्री अपने रिश्तेदारों और परिवारों के साथ उनकी कुशलता के बारे में संवाद करने में असमर्थ थे, जिससे उन्हें अशांति और चिंता थी ।

इस कठिन परिस्थिति में रेलटेल कॉर्पोरेशन (रेल मंत्रालय का एक मिनी रत्न केंद्र सरकार का पीएसयू) द्वारा रेलवे स्टेशनों पर पहले से उपलब्ध कराई गई वाई-फाई सुविधा के द्वारा कम्युनिकेशन कनेक्टिविटी प्रदान करने में बहुत उपयोगी साबित हुई। स्थानीय रेलटेल कर्मचारियों ने इस अवसर पर एनएफआर प्रशासन के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम करते हुए यात्रियों को अपने परिवारों से संपर्क करने के लिए स्टेशन वाई-फाई का उपयोग करने के लिए विशेष व्यवस्था की। रेल प्रशासन ने भी इस कनेक्टिविटी सुविधा का उपयोग राहत और बचाव अभियान को प्रभावी ढंग से आयोजित करने के लिए किया। यह विशेष व्यवस्था उपयोगकर्ता के मोबाइल फोन पर ओटीपी की आवश्यकता को अस्थायी रूप से निलंबित करके की गई थी, जैसा कि प्रमाणीकरण उद्देश्य के लिए मानक प्रक्रिया के तहत आवश्यक था;क्योंकि उस क्षेत्र में मोबाइल सेवाएं बंद थीं।

यह कनेक्टिविटी असम के कछार जिले के डिटोकचेरा (स्टेशन कोड: डीटीसी), न्यू हरंगाजाओ (स्टेशन कोड: एनएचजीजे), न्यू हाफलोंग (स्टेशन कोड: एनएचएलजी) सभी दीमा हसाओ जिले में, दामचेरा (स्टेशन कोड: डीसीए), कछार जिले में प्रदान की गई थी जो एनएफआर के लुमडिंग डिवीजन के तहत आते हैं ।

इस सुविधा के उपयोगकर्ताओं ने रेलवे की काफी सराहना की और संतुष्ट महसूस किया ।

Sarkaritel
By Sarkaritel May 18, 2022 19:50