बिन पानी सब सून, कैच द रेन..

ameya sathaye
By ameya sathaye March 22, 2021 21:21

बिन पानी सब सून, कैच द रेन..


22 मार्च 2021 लखनऊ। रहिमन पानी रखिए बिन पानी सब सून। पानी गये न ऊबरे मोती मानस चून।। रहीम दास के दोहे के साथ डा0 महेन्द्र सिंह, माननीय जल शक्ति मन्त्री, उ0प्र0 सरकार ने लोगों को पानी बचाने के लिए प्रेरित करते हुए कहा कि पानी ही जीवन है पानी से ही सबकुछ है, आगे उन्होनें कहा कि जब आजाद भारत की पहली जनगणना हुई भी तो प्रति व्यक्ति प्रति दिन पानी की उपलब्धता लगभग 6000 घन मीटर थी, 2001 की जनगणना में यह औसत घटकर 2000 घनमीटर रह गया, और 2011 की जनगणना में यह औसत 1500 घन मीटर रह गया, वर्तमान में जिस औसत से हम पानी का उपयोग/दोहन कर रहें है, यदि हम जल संचयन के विकल्पों का उपयोग कर जल संचयन करते है तब भी उपयोग/दोहन के मुकाबले हम करीब 40 प्रतिशत ही संचयन कर पायेंगे इससे आप अन्दाजा लगा सकते है कि आने वाले कितने वर्षों बाद हमारे पानी पास साफ पानी की उपलब्धता एक गम्भीर समस्या बनने वाली है।

इसलिए हमें वर्षा जल संचयन, तालाबों के संरक्षण एवं पानी बचाने के अन्य विकल्पों पर विचार करने की जरूरत है। इसके पहले माननीय मन्त्री जी ने जल मेला का फीता काटकर उद्याटन किया, जल मेला में वाटर एड इण्डिया सहित सी0जी0डब्लू0बी, आगा खां, माडल गांव, वाॅश साॅल्यूशन, आई0ए0जी0 सहित कई संस्थाओं ने पानी से सम्बन्धित माडल का प्रर्दशन किया व जागरूकता सामग्री बान्टी।
डा0 हीरा लाल जी, अपर निदेशक, एन0एच0एम0 ने लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि पानी को किसी भी प्रकार से बनाया नही जा सकता पानी का समुचित उपयोग कर पानी की बरबादी पर रोक लगाने के साथ साथ वर्षा जल संयचन/संवर्धन कर भविष्य में होने वाली पानी की समस्या को कम किया जा सकता है। जल संचयन के कम लागत वाले विकल्पों पर बात करते हुए उन्होने कहा कि हम छत वर्षा जल संग्रहण को प्रत्येक परिवार/घर को अपनाने के लिए कहा।
आर0 एस0 सिन्हा, वरिष्ठ भूगर्भ जल बैज्ञानिक, भूजल बोर्ड, उत्तर प्रदेश, द्वारा भूजल के गिरते जल स्तर के कारण भविष्य में उत्पन्न होने वाली समस्याओं पर चर्चा करते हुए कहा कि वर्तमान समय में नदिया सूख रही है इनके बहाव क्षेत्र में वर्षा जल संचयन के विकल्पों का निर्माण किया जाये तो इन्हें सूखने से बचाने के साथ साथ गिरते जल स्तर को कम किया जा सकता है।

वाटर एड लखनऊ द्वारा आयोजि उक्त कार्यक्रम के अवसर पर पानी बचाने हेतु लोगों को जागरूक करने के लिए भदोही जनपद से मैराथन के द्वारा धावक श्री नायब बिन्द एवं उनके साथ साईकिल यात्रा कर रहे मुरलीधर एवं सुनील कुमार जी को इस ऐतिहासिक पहल के लिए सम्मानित किया गया, इस अवसर पर प्रभा जी, पी0के0 त्रिपाठी, बलवीर सिंह, प्रो0 बेंकटेस दत्ता, अजीत सिंह, फार्रूख़ रहमान खान, पंकज हरी अरेला, अंजली त्रिपाठी, डा0 शिशिर चन्द्रा सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहें।

ameya sathaye
By ameya sathaye March 22, 2021 21:21