NHPC organizes Hindi Kavi Sammelan

Sarkaritel
By Sarkaritel February 24, 2022 19:45

NHPC organizes Hindi Kavi Sammelan


Faridabad, Feb 24 :NHPC Limited organized a grand ‘Hindi Kavi Sammelan’ at Jal Tarang Auditorium, NHPC Office Complex, Faridabad on February 24th, 2022, to promote and appreciate Rajbhasha throughout the company. The Kavi Sammelan was inaugurated by A.K. Singh, CMD, NHPC by lighting of traditional lamp. Y.K. Chaubey, Director (Technical), R.P. Goyal, Director (Finance), Biswajit Basu, Director (Projects) and A.K. Srivastava, Chief Vigilance Officer and other senior officers and employees were also present on the occasion. Smt. Sudha Singh, President, NHPC ladies welfare association, Smt. Pushpa Chaubey, Smt. Gayatri Goyal and other members of Ladies welfare association were also present during the Kavi Sammelan.  

On this occasion, A.K. Singh, CMD, NHPC addressed the gathering and all NHPC employees posted across its remotely projects, power stations and offices including NHPC Corporate Office through web casting. CMD, NHPC highlighted NHPC’s main achievements in the last two years and especially praised NHPC employees for their hardwork and dedication. He further said that NHPC is steadily moving towards reaching its target of becoming a 50,000 MW company as set by R.K. Singh, Hon’ble Union Minister of Power, New and Renewable Energy, Govt. of India. 

During the occasion, the new logo of NHPC Limited was also launched by CMD, NHPC. A special booklet showcasing NHPC’s achievements and significant developments over the last two years was also released during the Kavi Sammelan. 

The Kavi Sammelan started with Saraswati Vandana by poetess Smt. Anamika Amber. Thereafter, renowned poets of humour and satire, Dinesh Diggaj, Sarvesh Asthana and Pawan Aagri, enthralled the audience with their humorous and satirical poems. Smt. Anamika Amber, well-known satirical poet Dr. Praveen Shukla and finally the poet/lyricist of human sensibilities, Dinesh Raghuvanshi, enthralled the audience with their splendid poetic presentations. 

The Kavi Sammelan, was held observing the required operational procedures issued by the Government of India in view of ongoing Covid-19 epidemic.


एनएचपीसी द्वारा हिंदी कवि सम्मेलन का आयोजन

एनएचपीसी लिमिटेड द्वारा निगम में राजभाषा हिंदी के प्रचार-प्रसार के उद्देश्य से 24 फरवरी, 2022 को एनएचपीसी कार्यालय परिसर, फरीदाबाद के जल तरंग सभागार में हिंदी कवि सम्मेलन का भव्य आयोजन किया गया। कवि सम्मेलन का शुभारंभ श्री ए. के. सिंह, सीएमडी, एनएचपीसी ने भारतीय परंपरा के अनुसार दीप प्रज्ज्वलित करके किया। इस अवसर पर श्री वाई. के. चौबे, निदेशक (तकनीकी),    श्री आर. पी. गोयल, निदेशक (वित्त), श्री बिश्वजीत बासु, निदेशक (परियोजनाएं) एवं श्री ए. के. श्रीवास्तव, मुख्य सतर्कता अधिकारी के साथ वरिष्ठ अधिकारीगण व कार्मिकगण भी उपस्थित थे। कवि सम्मेलन के दौरान श्रीमती सुधा सिंह, अध्यक्षा, एनएचपीसी महिला कल्याण समिति, श्रीमती पुष्पा चौबे, श्रीमती गायत्री गोयल और महिला कल्याण समिति की अन्य सदस्याएं भी उपस्थित थीं।

इस अवसर पर अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक श्री ए. के. सिंह ने निगम मुख्यालय के कार्मिकों सहित वेब कास्टिंग के माध्यम से निगम की सुदूर स्थित परियोजनाओं/ पावर स्टेशनों/ कार्यालयों के सभी कार्मिको को संबोधित किया। सीएमडी, एनएचपीसी ने पिछले दो वर्षों में एनएचपीसी की मुख्य उपलब्धियों पर प्रकाश डाला और विशेष रूप से एनएचपीसी कार्मिकों की कड़ी मेहनत और समर्पण की प्रशंसा की। उन्होंने आगे कहा कि एनएचपीसी श्री आर. के. सिंह, माननीय केंद्रीय विद्युत एवं नवीन व नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री द्वारा एनएचपीसी के 50,000 मेगावाट कंपनी बनने के तय किए गए लक्ष्य की ओर तेजी से आगे बढ़ रही है।

इस अवसर पर अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक द्वारा एनएचपीसी लिमिटेड के नए लोगो का भी अनावरण किया गया। कवि सम्मेलन के दौरान पिछले दो वर्षों में एनएचपीसी की उपलब्धियों और महत्वपूर्ण विकासों को दर्शाने वाली एक विशेष पुस्तिका भी जारी की गई।

कवि सम्मेलन की शुरूआत करते हुए सर्वप्रथम कवयित्री सुश्री अनामिका अम्बर ने सरस्वती वंदना प्रस्तुत की। उसके उपरांत हास्य-व्यंग्य के प्रसिद्ध कवि श्री दिनेश दिग्गज, श्री सर्वेश अस्थाना और श्री पवन आगरी ने चुटीली व्यंग्य कविताओं से श्रोताओं को मंत्रमुग्ध किया।  गीत-ओज एवं श्रृंगार की गीतकार कवयित्री सुश्री अनामिका अम्बर तथा सुविख्यात व्यंग्य कवि डॉ. प्रवीण शुक्ल और अंत में मानवीय संवेदनाओं के कवि/ गीतकार श्री दिनेश रघुवंशी ने अपनी-अपनी शानदार काव्य प्रस्तुतियों से श्रोताओं को विभिन्न काव्य रसों से सराबोर कर दिया।

उल्लेखनीय है कि इस कवि सम्मेलन के आयोजन में भारत सरकार द्वारा कोविड-19 महामारी के संबंध में जारी सभी अपेक्षित प्रचालन प्राक्रियाओं का विशेष रूप से ध्यान रखा गया।

Sarkaritel
By Sarkaritel February 24, 2022 19:45