‘INDIA AND BELARUS WILL STRENGTHEN BILATERAL RELATIONSHIP’, SAYS LOK SABHA SPEAKER

Sarkaritel
By Sarkaritel June 13, 2018 12:42


Camp: Minisk (Belarus), 13 June 2018:  Lok Sabha Speaker Smt Sumitra Mahajan, who is leading an Indian Parliamentary Goodwill Delegation to Belarus, called on the Belarusian President Mr. Alexander Lukashenko. Both leaders discussed issues of mutual concern and expressed firm commitment to strengthening already warm and friendly relations. The Speaker mentioned  that India and Belarus are time-tested friends and said that the good feelings between the two countries need to be supported by enhancement in commercial and economic cooperation. She said that PM Shri Narendra Modi’s use of the term “Security” at the SCO Summit implies not merely territorial security but also security in other areas including economy.

She added that the Government of India is well aware that our defence cooperation with Russia has always included Belarus and its production facilities in the background.  We are keen on furthering this relationship by establishing joint ventures in the fields of mutual interest and benefit. She also mentioned the SMART cities programme of India and said that the Belarusian technology for not just SMART transportation but also SMART water, electricity, sewage disposal and green buildings would be very welcome.

Mr. Lukashenko emphasized the need to give a firm direction to the India Belarus bilateral relations so that they may evolve in the right manner in the future. He said that the two countries already have convergent views on most issues and support each other in all multilateral fora, but their commercial relations definitely need a further push. Promoting joint ventures and mutual investment is the way forward.

In a lighter vein, Mr. Lukashenko mentioned that he had informed PM Shri Narendra Modi, on the sidelines of SCO meeting in Qindao,  that half of Belarus’ population is already into YOGA and that he himself was planning to start Yoga exercises.  Speaker mentioned, from personal experience, that she could confirm  that Yoga is truly effective and has greatly helped her to carry out her duties and responsibilities far more effectively and without undergoing the stress associated with public life. She also assured the President of her support and her willingness to convey Belarusian concerns and desire for cooperation to the Indian Government. She added that the Indian Parliament would extend all assistance towards shaping the Government’s policies in the context of cooperation with Belarus.


भारत और बेलारूस आपसी आर्थिक संबंध और मजबूत करेंगे,  लोक सभा स्पीकर

 

कैम्प : मिन्स्क (बेलारूस), 13 जून 2018 : लोक सभा स्पीकर श्रीमती सुमित्रा महाजन ने भारतीय संसदीय शिष्टमंडल के बेलारूस प्रवास केदौरान बेलारूस गणराज्य के राष्ट्रपति, श्री अलैक्जेंडर लुकाशेन्को के साथ मुलाकात की । वार्ता में दोनों देशों ने वर्तमान द्विपक्षीय संबंध, जो कि सौहार्दपूर्ण एवं दोस्ताना है, उन्हें विशेषकर आर्थिक संबंध को और अधिक सुदृढ़ करने पर जोर दिया।

लोक सभा अध्यक्ष, श्रीमती महाजन ने कहा कि भारत और बेलारूस के संबंध समय की कसौटी पर खरे उतरे हैं और इन अच्छे संबंधों कोआर्थिक एवं व्यापारिक क्षेत्र में सहयोग ब़ढ़ाकर और अधिक सुदृढ़ करने की आवश्यकता है। उन्होंने बेलारूस के राष्ट्रपति को बताया कि प्रधानमंत्री, श्री नरेन्द्र मोदी ने शंघाई सहयोग परिषद् में जिस “सुरक्षा” संबंधी अवधारणा का उल्लेख किया था, उसका आशय केवल भौगोलिक सुरक्षा से नहीं बल्कि संपूर्ण अर्थ में सुरक्षा से है, जिसमें आर्थिक सुरक्षा भी सम्मिलित है। उन्होंने यह भी बताया कि भारत का रूस से जो सुरक्षा सहयोग है, उसमें बेलारूस एवं उसकी उत्पादन इकाइयां महत्वपूर्ण रूप से सम्मिलित रही है और हम इस सहयोग को और भी विस्तार देना चाहते है, इसलिए हमारे दोनों देशों को रक्षा, विज्ञान एवं तकनीक, सूचना प्रौद्योगिकी इत्यादि के क्षेत्रों में आपसी सहयोग को नए आयाम देना है। भारत के स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि बेलारूस के अनुभव एवं तकनीकी ज्ञान का उपयोग न केवल स्मार्ट यातायात बल्कि स्मार्ट जल एवं विद्युत व्यवस्था, कचरा एवं मल निष्पादन तथा ग्रीन बिल्डिंग इन क्षेत्रों में लाभदायी रहेगा।

श्री लुकाशेन्को ने कहा कि भारत और बेलारूस के संबंध अत्यंत मधुर और मित्रतापूर्ण है। अंतरराष्ट्रीय मंचों पर हम एक-दूसरे का यथोचित सहयोग एवं समर्थन करते है। साथ ही ज्वलंत अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर हमारे विचारों में काफी एकरूपता है। भारत-बेलारूस के मित्रता पूर्ण संबंधों को एकनिश्चित दिशा देना आवश्यक है ताकि भविष्य में इन संबंधों का स्वरूप दोनों देशों के लिए फलदायी रहे। यह लक्ष्य हम गहन आर्थिक, व्यापारिक तथा औद्योगिक संबंधों को एक-दूसरे के देश में निवेश व संयुक्त उपक्रम के माध्यम से हासिल कर सकते हैं।

श्री लुकाशेन्को ने श्रीमती महाजन को बताया कि शंघाई सहयोग परिषद् के दौरान उनकी मुलाकात प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी से हुई थी और उन्होंने श्री मोदी को बताया कि लगभग आधा बेलारूस योग में रूचि लेने लगा है और वे स्वयं योगाभ्यास प्रारंभ करने वाले हैं। श्रीमती महाजन ने भी कहा कि मैं अपने स्वयं के अनुभव के आधार पर कह सकती हूं कि योगाभ्यास अत्यंत प्रभावकारी एवं उपयोगी है और इससे सार्वजनिक जीवन कीतनावपूर्ण परिस्थितियों से तारतम्य स्थापित करने तथा कार्यक्षमता एवं कुशलता में भी अभिवृद्धि होती है। उन्होंने श्री लुकाशेन्को को आश्वासन दिया कि आपसी बातचीत में बेलारूस के द्वारा उठाए गए मुद्दे एवं अपेक्षाओं को वे भारत सरकार तक जरूर पहुंचाएंगी और भारतीय संसद के स्तर पर भी भारत-बेलारूस के संबंधों को मजबूत करने के लिए सदैव तत्पर रहेगी।

Sarkaritel
By Sarkaritel June 13, 2018 12:42