NHPC organizes Akhil Bhartiya Rajbhasha Sammelan

Sarkaritel
By Sarkaritel March 22, 2022 19:58

NHPC organizes Akhil Bhartiya Rajbhasha Sammelan


Faridabad, March 22: NHPC Limited is organizing Akhil Bhartiya Rajbhasha Sammelan from  22nd to 23rd March 2022 at Faridabad. Chitra Mudgal, Eminent Hindi writer was the Chief guest at the inauguration of the programme. A.K. Singh CMD, NHPC along with Lucas Guria, Executive Director (HR) and Dr. Rajbir Singh, Group General Manager (Rajbhasha) were also present on the occasion.

In his address, A.K. Singh, CMD, NHPC, spoke on the importance of official language Hindi and said that affection and passion for the official language is a form of love for the nation. He asked all the participants to take sincere measures to promote official language Hindi at their workplaces. Further, CMD, NHPC expressed the hope that soon all the work of the corporation will be completely done in Hindi only.

In her address, the Chief guest of the inaugural session, Smt. Chitra Mudgal, eminent Hindi writer appreciated the official language work being done in NHPC. Smt Mudgal said that Hindi is not only a language for work but is pride of the country and a symbol of Indian culture.

The Akhil Bhartiya Rajbhasha Sammelan will be held for two days and various aspects and facets of Official Language will be discussed during the programme.


एनएचपीसी द्वारा अखिल भारतीय राजभाषा सम्मेलन का आयोजन

 

एनएचपीसी लिमिटेड द्वारा दिनांक 22 व 23 मार्च, 2022 को दो दिवसीय अखिल भारतीय राजभाषा सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है । इस सम्मेलन के उद्घाटन के अवसर पर प्रख्यात हिंदी साहित्यकार श्रीमती चित्रा मुद्गल मुख्य अतिथि थी। इस अवसर पर श्री  ए.के. सिंह,  सीएमडी,एनएचपीसी के साथ श्री लूकस गुड़िया, कार्यपालक निदेशक (मानव संसाधन) व डॉ. राजबीर सिंह, समूह महाप्रबंधक (राजभाषा) भी उपस्थित थे ।

श्री ए.के. सिंह, सीएमडी, एनएचपीसी ने अपने संबोधन में राजभाषा हिंदी की महत्ता के संबंध में बताते हुए कहा कि राजभाषा के प्रति लगाव और अनुराग राष्ट्र प्रेम का ही एक रूप है । उन्होंने सभी प्रतिभागियों से अपने कार्य स्थलों पर राजभाषा हिंदी को बढ़ाने के निष्ठापूर्वक उपाय करने को कहा । साथ ही उन्होंने आशा व्यक्त की कि शीघ्र ही हमारे निगम में पूर्ण रूप से केवल हिंदी में कार्य किया जाने लगेगा ।

इस अवसर पर सत्र की मुख्य अतिथि प्रख्यात हिंदी साहित्यकार श्रीमती चित्रा चित्रा मुद्गल ने अपने सम्बोधन में एनएचपीसी में किए जा रहे राजभाषा कार्यों को सराहा । उन्होंने कहा कि हिंदी केवल कामकाज की नहीं देश के अभिमान की भाषा है, भारतीय संस्कृति की परिचायक है।

यह राजभाषा सम्मेलन दो दिन चलेगा और इसमें राजभाषा के विभिन्न पक्षों और आयामों पर विस्तार से चर्चा की जाएगी ।

Sarkaritel
By Sarkaritel March 22, 2022 19:58