PM Lays Foundation Stone of Varanasi City Gas Distribution Project

Sarkaritel
By Sarkaritel October 25, 2016 09:46

PM Lays Foundation Stone of Varanasi City Gas Distribution Project

WordPress database error: [Table './sardip_14523_sarkari_20512/wp_adrotate_tracker' is marked as crashed and should be repaired]
SELECT `timer` FROM `wp_adrotate_tracker` WHERE `ipaddress` = '3.229.137.68' AND `stat` = 'i' AND `bannerid` = 1 ORDER BY `timer` DESC LIMIT 1;


 25modi_inaug

  • ‘Urja Ganga’ to arrive soon in the holy city of Varanasi
  • CGD project a Deepawali gift to the city
  • Host of other projects also dedicated and flagged off
  • GAIL to invest Rs 1,000 crores for the CGD project
  • 50,000 households, 20,000 vehicles to benefit

 

Varanasi, October 24, 2016: Heralding the arrival of ‘Urja Ganga’ in the city of Varanasi, Prime Minister Shri Narendra Modi today laid the foundation stone of the City Gas Distribution (CGD) project in a function here in presence of Governor, Uttar Pradesh Shri Ram Naik, Union Minister of State (Independent Charge) for Petroleum and Natural Gas, Shri Dharmendra Pradhan, Union Minister of State (Independent Charge) for Communications and Minister of State for Railways Manoj Sinha, Union Minister of State for Human Resources Development Dr. Mahendra Nath Pandey, Union Minister of State for Health and Family Welfare Anupriya Patel, Minister of Khadi and Village Industries, Government of Uttar Pradesh Shri Brahmashankar Tripathi, Member of Parliament Shri Keshav Prasad Maurya, Member of Parliament Shri Ramcharit Nishad, Varanasi Mayor Ram Gopal Mohale and a host of other dignitaries.

The laying of the foundation stone heralds the start of construction of the CGD project which will bring eco-friendly fuel natural gas to households, vehicles and industries in the holy city of Varanasi. The project is part of GAIL (India) Limited’s Jagdishpur – Haldia and Bokaro – Dhamra Pipeline project (JHBDPL), popularly known as ‘Urja Ganga’.

The Hon’ble Prime Minister also dedicated the 765/ 400 KV GIS Varanasi Power Station, inaugurated the Varanasi Postal Region, dedicated the Expansion Project of Diesel Locomotive Works (Phase – I), laid the foundation stone for doubling and electrification of Allahabad – Varanasi Rail Line, released a commemorative postage stamp on Varanasi City and laid the foundation stone of Perishable Cargo Centre.

The Varanasi CGD project will be developed simultaneously with the Jagdishpur – Haldia and Bokaro – Dhamra Pipeline project, which is being done for the first time in the country. The project, with an estimated capital investment of Rs.1,000 crores, is expected to connect 50,000 households with piped natural gas (PNG) and provide compressed natural gas (CNG) to 20,000 vehicles through 20 CNG stations. About 800 km of steel and medium density polyethylene (MDPE) will be laid in the city as part of the project. With the coming of the CGD project, it will be possible to give five lakh LPG connections to households in rural areas.

The 2,540 km JHBDPL project is being executed at an investment of Rs 12,940 crores, which includes 40% capital grant (i.e. Rs 5,176 crores) from the Government of India. It will pass through five states, i.e. Uttar Pradesh, Bihar, Jharkhand, Odisha and West Bengal, covering 40 districts. GAIL has also been entrusted with developing CGD network in seven cities enroute the pipeline, i.e., Varanasi, Patna, Jamshedpur, Kolkata, Ranchi, Bhubaneswar and Cuttack.

 


माननीय प्रधानमंत्री द्वारा वाराणसी शहर गैस वितरण परियोजना का शिलान्‍यास  

  • पवित्र नगर वाराणसी में शीघ्र ही “ऊर्जा गंगा” का आगमन
  • कई अन्‍य परियोजनाओं का भी शिलान्‍यास और शुभारंभ
  • गेल द्वारा सीजीडी परियोजना पर रुपये 1000 करोड़ का निवेश
  • 50,000 घरों और 20,000 वाहनों को होगा लाभ 

 

वाराणसी,24 अक्‍टूबर, 2016 : आज यहां माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने वाराणसी में ‘‘ऊर्जा गंगा’’ के आगमन के हेतु शहर गैस वितरण परियोजना (सीजीडी) का शिलान्‍यास उत्तर प्रदेश के महामहिम राज्‍यपाल श्री रामनाइक, माननीय केन्‍द्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस राज्‍य मंत्री (स्‍वतंत्रप्रभार) श्री धर्मेन्‍द्र प्रधान, माननीय केन्‍द्रीय संचार राज्‍य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) और रेलवे राज्‍यमंत्री श्रीमनोज सिन्‍हा, केन्‍द्रीय मानव संसाधन विकास राज्‍य मंत्री श्री महेन्‍द्र नाथ पाण्‍डेय,माननीय केन्‍द्रीय स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण राज्‍य मंत्री श्रीमती अनुप्रिया पटेल, उत्तर प्रदेशकेमाननीय खादी और ग्रामीण उद्योगमंत्री श्री ब्रह्मशंकर त्रिपाठी, संसद सदस्‍य श्री रामचरितनिषाद, वाराणसी के मेयर श्री राम गोपाल मोहले तथा अन्‍य गणमान्‍य अतिथियों की उपस्थितिमें किया।

सीजीडी परियोजनाके शिलान्‍यास से पावन नगर वाराणसीमें पर्यावरण अनुकूलईंधन प्राकृतिक गैस घरों, वाहनों और उद्योगों तक पहुंचने की शुरूआत होगी। यह परियोजना गेल (इंडिया) लिमिटेड की जगदीशपुर-हल्दिया और बोकारो-धामरा पाइपलाइनपरियोजना (जेएचबीडीपीएल) का हिस्‍सा होगी जिसे आमतौर पर “ऊर्जा गंगा” के नाम से जानाजा रहा है ।

माननीय प्रधानमंत्री जी ने 765/400 केवीजीआईएस वाराणसी पॉवर स्‍टेशन का भी उद्घाटन किया और वाराणसी पोस्‍टल रीजन का भी उद्घाटन किया तथा डीजल लोकोमोटिव वर्क्‍स (चरण-I) की विस्‍तार परियोजना को राष्‍ट्र को समर्पित किया । इसके साथ इलाहाबाद-वाराणसी रेल लाइन के विद्युतीकरण औररेलवेलाइन के दोहरीकरण की आधारशिला रखी । उन्‍होने इस अवसर पर वाराणसी शहर पर प्रतीकात्‍मक डाक  टिकट भी जारी किया तथा पेरिशेबल कार्गो सेंटर की आधारशिला रखी ।

वाराणसी सीजीडी परियोजना का विकास जगदीशपुर हल्दिया तथा बोकारो-धामरा पाइपलाइन के परियोजना के साथ-साथ किया जाएगा जोकि देश में पहली बार किया जा रहा है। यह परियोजना 1,000 करोड़ रुपए के पूंजीगत निवेश सेतैयार की जाएगी और आशा की जाती है कि लगभग 50,000 घरोंकोपीएनजी (पाइप्‍ड नेचुरल गैस ) तथा 20 सीएनजी स्‍टेशनों के माध्‍यम से 20,000 वाहनों को संपीडि़त प्राकृतिक गैस (सीएनजी) उपलब्‍ध कराएगी । परियोजना के भाग केरूप में 800 कि.मी. लंबी स्‍टील तथा मीडियम डेंसिटी की पॉलीइ‍थीलीन (एमडीपीई) पाइपलाइनें बिछाई जाएंगी । इस सीजीडी परियोजना के आगमन से ग्रामीण क्षेत्रों को पांच लाख एलपीजी कनेक्‍शन देना संभव होसकेगा ।

2,450 कि.मी. लंबी जेएचबीडीपीएल पाइपलाइन परियोजना का निष्‍पादन12,940 करोड़ रुपए के निवेशसे किया जा रहा है । इसमेंभारतसरकार द्वारा दिया गया 40% पूंजीगत अनुदान (अर्थात 5,176 करोड़ रुपए) शामिल है । यह पाइपलाइन पांच राज्‍यों यथा उत्तर प्रदेश,बिहार, झारखंड, उड़ीसाऔर पश्चिम बंगाल के 40 जिलों से गुजरेगी । गेल को इस पाइपलाइन के मार्ग पर पड़ने वाले सात शहरों के लिए सीजीडी नेटवर्क का कार्य भी सौंपा गया है ।इनमें वाराणसी, पटना, जमशेदपुर, कोलकाता,रांची, भुबनेश्‍वर एवं कटक शामिल हैं ।

Sarkaritel
By Sarkaritel October 25, 2016 09:46