Foundation Stone Laying Ceremony of PNB Rural Self Employment Training Institute

Sarkaritel
By Sarkaritel May 10, 2016 09:49

Foundation Stone Laying Ceremony of PNB Rural Self Employment Training Institute


10pnb_inaug

Punjab National Bank, pioneer in the field of Rural Development has extended its wings in Meghalaya State by laying foundation stone for construction of Rural Self Employment Training Institutes (RSETIs) at East Khasi Hills District. The RSETIs are established as per the guidelines of the Ministry of Rural Development, Government of India where in the land is provided by the State Governments. The Bank has taken this responsibility for accelerating the pace of rural development and creating rural entrepreneurs in the far flung areas of the Meghalaya State in the North Eastern Region.

The foundation stone of the RSETI was laid down by Smt. Usha Ananthasubramanian, Managing Director & CEO, Punjab National Bank and Smt. Roshan Warjri, Hon’ble Minister Incharge Home, Government of Meghalaya on 09.05.2016.

Speaking on the occasion,  Usha Ananthasubramanian, Managing Director & CEO of the Bank told that the establishment of RSETIs in North Eastern Region will pave the way for speeding up the skill development and other rural development activities under the aegis of PNB Centenary Rural Development Trust (PNBCRDT) established by the Bank in the year 1993. She further reported that 54 RSETIs sponsored by the Bank in 12 states have, so far, trained 1.6 lakh candidates out of which 1.11 lakh are women candidates; out of the total candidates trained, 58 per cent candidates have been settled. The Bank also provides a Credit Linkage for promoting self employment under Mudra Loan Scheme.

The RSETIs are playing a pivotal role by doing a yeoman service of orienting, modulating and counselling the rural youth for undertaking self employment ventures after taking entrepreneurship development.  She also announced that at the end of the training under Mahila Kaushal Vikas Yojana, 1000 women will get free tool kit costing Rs. 3000/- per trainee. She also informed that PNB will adopt 100 girl students of the area every year under PNB Ladli Scheme for providing financial assistance of Rs. 3500/- p.a. till completion of their 12th Class. Later, the girl students will also be supported by the education loan for higher studies in professional Institutes. In a school function, she also donated the equipments of physical and educational support equipments and study material to the differently abled children under the CSR activities of the Bank.

Roshan Warjri, Minister Incharge Home, Government of Meghalaya expressed a great satisfaction over the initiative taken by the Punjab National Bank and appreciated the Bank for its contribution made in rural development in particular in different parts of the country. She told that the skill development by the RSETI will help the rural youth in promoting self employment in the area.

 


 

 

ईस्‍ट खासी हिल्स, मेघालय में पीएनबी ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षणसंस्थान (आरसेटी) का आधारशिला समारोह

श्रीमती उषा अनंतसुब्रह्मण्‍यन, प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी, पंजाब नैशनल बैंक एवं श्रीमती रोशन वार्जरी, माननीय मंत्री गृह प्रभार, मेघालय सरकार ने दिनांक 09.05.2016 को आरसेटी निर्माण की आधारशिला रखी ।

ग्रामीण विकास के क्षेत्र में अग्रणी पंजाब नैशनल बैंकने ईस्‍ट खासी हिल्स जिले में ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान (आरसेटी) के निर्माण कार्य का शिलान्यास करके मेघालय राज्य में अपना विस्‍तार किया है। आरसेटीग्रामीण विकास मंत्रालय, भारत सरकार के दिशा निर्देशों के अनुसार स्थापित किए जाते हैं जहां भूमि राज्य सरकारों द्वारा प्रदान की जाती है। बैंक ने पूर्वोत्तर क्षेत्र में मेघालय राज्य के दूर-दराज क्षेत्रों में ग्रामीण विकास की गति को बढ़ाने और ग्रामीण उद्यमियों का सृजन करने के लिए यह जिम्मेदारी ली है।

इस अवसर पर बोलते हुए, बैंक की प्रबंध निदेशक एवं सीईओ श्रीमती उषा अनंतसुब्रह्मण्‍यन ने कहा कि वर्ष 1993 में बैंक द्वारा स्‍थापित पीएनबी शताब्दी ग्रामीण विकास ट्रस्ट (PNBCRDT) के तत्वावधान में पूर्वोत्तर क्षेत्र में आरसेटीकी स्थापना से, कौशल विकास और अन्य ग्रामीण विकास गतिविधियों में तेजी लाने का मार्ग प्रशस्त होगा।उन्‍होंने आगे बताया कि 12 राज्यों में बैंक द्वारा 54 आरसेटीप्रायोजित किए गए हैं, अब तक, 1.6 लाख प्रशिक्षणार्थियों को प्रशिक्षण प्रदान किया गया है जिसमें1.11 लाख महिलाएं थीं। कुल प्रशिक्षित प्रशिक्षणार्थियों में से 58 प्रतिशत प्रशिक्षणार्थियों ने रोजगार प्राप्‍त कर लिया है।बैंक मुद्रा ऋण योजना के अंतर्गत स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए ऋण सुविधा भी प्रदान करता है। आरसेटीग्रामीण युवाओं का उद्यमिता विकास करने के पश्‍चात उनको स्वरोजगार कार्य शुरू करने हेतु उन्‍मुख करने एवं व्‍यवहार संगत परामर्श देने की महत्‍वपूर्ण सेवा देकर एक निर्णायक भूमिका निभाती है।

उन्‍होंने यह भी घोषणा की कि महिला कौशल विकास योजना के अंतर्गत दिए जाने वाले प्रशिक्षण के अंत में, 1000 महिलाएं प्रति प्रशिक्षु रू.3000/- लागत की नि:शुल्क उपकरण किट प्राप्‍त करेंगी। उन्‍होंने यह भी जानकारी दी कि पीएनबी के द्वारा पीएनबी लाडली योजना के अंतर्गत प्रतिवर्ष क्षेत्र की 100 छात्राओं को उनकी 12वीं कक्षा पूर्ण होने तक रुपये 3500/- प्रतिवर्ष वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए गोद लिया जाएगा।इसके पश्‍चात, छात्राओं को व्‍यवसायिक संस्थानों में उच्च शिक्षा हेतु शिक्षा ऋण भी प्रदान किया जाएगा। एक विद्यालय समारोह में, उन्‍होंनेबैंक की सीएसआर गतिविधियों के अंतर्गत दिव्‍यांग बच्चों के लिए शारीरिक सहायता उपकरण तथा शैक्षिक अध्ययन सामग्री भी प्रदान की।

श्रीमती रोशन वार्जरी, माननीय मंत्री गृह प्रभार, मेघालय सरकार ने पंजाब नैशनल बैंक द्वारा की गई पहल पर अत्‍यधिक संतोष व्यक्त किया तथा विशेष रूप से देश के विभिन्न भागों में ग्रामीण विकास में किए गए योगदान के लिए बैंक की सराहना की। उन्‍होंने कहा किइस क्षेत्र मेंग्रामीण युवाओं का कौशल विकास करके यह आरसेटी स्वरोजगार को बढ़ावा देने में सहायक होगा।

………………………………..

Sarkaritel
By Sarkaritel May 10, 2016 09:49