केन्द्रीय विद्युत राज्य मंत्री द्वारा पावरग्रिड सहरसा उप-केन्द्र में 400 के.वी. डी/सी किशनगंज – दरभंगा लाईन के लीलो का शिलान्यास

Sarkaritel
By Sarkaritel September 13, 2020 18:15


आज माननीय राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) (विद्युत एवं नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा) और  राज्य मंत्री (कौशल विकास और उद्यमशीलता),भारत सरकार श्री आर. के. सिंह द्वारा पावरग्रिड के 400/220/132 के.वी. सहरसा उप-केंद्र  में 400 के.वी. डबल सर्किट किशनगंज – दरभंगा पारेषण लाईन के लीलो निर्माण परियोजना का शिलान्यास वर्चुअल माध्यम से किया गया। इस मौके पर विशिष्ट अतिथि श्री बिजेन्‍द्र प्रसाद यादव, माननीय उर्जा, मद्य निषेध एवं निबंधन मंत्री, बिहार सरकार तथा गरिमामयी उपस्थिति के रूप में श्री दिनेश चंद्र यादव, माननीय सांसद, मधेपुरा ऑन-लाईन जुड़े हुए थे। इस शिलान्यास कार्यक्रम के अवसर पर पावरग्रिड के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक श्री के. श्रीकांत ने सभी गण-मान्य अतिथियों का स्वागत किया।

पावरग्रिड द्वारा 400/220/132 के.वी. उप-केंद्र की स्थापना सहरसा में की जा रही है। इस उप-केंद्र को 400 के.वी. लीलो किशनगंज – पटना लाईन के माध्यम से पटना और किशनगंज से जोड़ा जाएगा। बाढ़ बाहुल्य क्षेत्र होने के कारण सहरसा में एक अतिरिक्त विद्युत स्‍त्रोत की आवश्यकता को देखते हुए 400 के.वी. दरभंगा-किशनगंज निर्माणाधीन लाईन के लीलो का सहरसा में उप-केंद्र का प्रावधान किया गया है। लगभग 100 करोड़ रुपय की लागत से बनने वाले इस प्रोजेक्ट से सहरसा,सुपौल, खगड़िया एवं बेगुसराय जिलों की विद्युत स्थिति में काफी सुधार होगा। इस परियोजना से उत्तरी बिहार में लो वोल्टेज की समस्या का समाधान हो सकेगा। यह परियोजना उत्तर बिहार के लिए एक वरदान साबित होगीऔर इस क्षेत्र के विकास में सहायक सिद्ध होगी।

पावरग्रिड, विद्युत मंत्रालय, भारत सरकार के अधीन एक ‘महारत्न’ सार्वजनिक उद्यम है जो अत्याधुनिक रखरखाव तकनीकों, स्वचालन एवं डिजिटलीकरण के उपयोग से अपने विशाल नेटवर्क की उपलब्‍धता 99% से ऊपर बनाए रखता है। अगस्त, 2020 की समाप्ति पर  पावरग्रिड और उसकी सहायक कंपनियों की कुल पारेषण परिसंपत्तियों में 1,64,511 सर्किट किमी की पारेषण लाइनें, 249 सब-स्टेशन और 4,14,774 एमवीए से अधिक की ट्रांसफार्मेशन क्षमता सम्मिलित है।

Sarkaritel
By Sarkaritel September 13, 2020 18:15