एनएचपीसी द्वारा कर्मचारी उत्पादकता और कौशल वृद्धि सुनिश्चित करने के लिए कोविड-19 महामारी के बीच ई-वर्किंग, वेबिनार और ऑनलाइन डिजिटल लर्निंग का सफलतापूर्वक क्रियान्वयन

Sarkaritel
By Sarkaritel June 12, 2020 05:43


एनएचपीसी लिमिटेड, भारत की प्रमुख जलविद्युत कंपनी ने कर्मचारी उत्पादकता और कौशल वृद्धि सुनिश्चित करने के लिए कोविड-19 महामारी के बीच ई-वर्किंग, वेबिनार और ऑनलाइन डिजिटल लर्निंग को सफलतापूर्वक लागू किया है ।

अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक, एनएचपीसी, श्री ए.के. सिंह ने कहा कि “विद्युत क्षेत्र देश के सबसे महत्वपूर्ण क्षेत्रों में से एक है और संकट के इस क्षण में एनएचपीसी अपने सभी पावर स्‍टेशनों से 24×7 विद्युत उत्पादन को निरंतर बनाए हुए है । हमने कार्मिकों को एसएसएल-वीपीएन कनेक्शन (सुरक्षित कनेक्शन) के माध्यम से विभिन्न डिजिटल उपकरणों का उपयोग करने के लिए सक्षम बनाया है, जो पहले उनके कार्यालय डेस्कटॉप के माध्यम से लैन / वैन कनेक्टिविटी का उपयोग करके किया जा सकता था । इसके कारण दक्षता में सुधार और तेजी से निर्णय लेने जैसे अतिरिक्त लाभ के अलावा निर्बाध व्यवसाय सुनिश्चित हुआ है ।”

लॉकडाउन की अवधि के दौरान एनएचपीसी द्वारा महत्वपूर्ण बोर्ड बैठकों का सफलतापूर्वक संचालन किया गया तथा 1600 मेगावाट की कुल संस्थापित क्षमता की अंतर्राज्यीय पारेषण प्रणाली (आईएसटीएस) ग्रिड से जुड़े फोटोवोल्टिक परियोजनाओं के लिए सौर ऊर्जा डेवलपर्स को लेटर ऑफ अवार्ड जारी करने, 800 मेगावाट की पार्बती-II परियोजना (हिमाचल प्रदेश) के लिए 1500 मीटर हेड रेस सुरंग के काम को अवार्ड करने, 2000 MW सुबानसिरी लोअर परियोजना के पावर हाउस के बचे हुए सिविल कार्यों के लिए ऑनलाइन टेंडर के माध्यम से प्रतिस्पर्धी बोली प्राप्त करने, भारत में कहीं भी स्थापित करने के लिए 2000 मेगावाट ग्रिड कनेक्टेड सोलर पीवी परियोजना के लिए आईटी इनेबल्ड ई-रिवर्स ऑक्शन (ई-आरए) का संचालन करने तथा  बॉन्ड के निजी प्लेसमेंट के माध्यम से 6.80% प्रतिवर्ष के अत्यंत प्रतिस्पर्धी ब्याज दर पर 10 वर्ष की ऋण अवधि के लिए 750 करोड़ रुपये जुटाने आदि कई महत्वपूर्ण कार्य किए गए ।

एनएचपीसी द्वारा लॉकडाउन के विभिन्न चरणों के दौरान अपने 70% से अधिक कार्यकारी शक्ति के लिए ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम और वेबिनार आयोजित किए गए । कर्मचारियों के डिजिटल अर्थव्यवस्था कौशल को विकसित करने और उन्हें भविष्य के लिए तैयार करने में मदद करने के उद्देश्य से आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, मशीन लर्निंग, बिग डेटा और क्लाउड कंप्यूटिंग आदि विषयों पर ऑनलाइन प्रशिक्षण आयोजित किया गया । एनएचपीसी द्वारा जलविद्युत विकास से संबंधित महत्वपूर्ण क्षेत्रों में भी वेबिनार के माध्यम से ऑनलाइन प्रशिक्षण आयोजित किया गया । एनएचपीसी द्वारा अपने कार्मिकों को ऑनलाइन योग और अन्य जीवन शैली प्रबंधन तकनीकों के माध्यम से उनकी प्रतिरक्षा में सुधार करने के लिए भी जागरूक किया गया । प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने और स्वास्थ्य और कार्य उत्पादकता में सुधार के उद्देश्य से एनएचपीसी द्वारा अपने कार्मिकों और उनके परिवार के सदस्यों के लिए सप्ताह के कार्यकारी दिनों में एक घंटे के लिए नियमित रूप से ऑनलाइन योग सत्र आयोजित किया जा रहा है ।

एनएचपीसी द्वारा लॉकडाउन अवधि के चरण 1 की घोषणा से पहले ही अपने कर्मचारियों के लिए ई-वर्किंग को लागू करना शुरू कर दिया गया था । एनएचपीसी की आईटी टीम द्वारा 24×7 आधार पर ई-वर्किंग की निगरानी और समर्थन किया गया । अपने निरंतर प्रयासों में एनएचपीसी अपने कार्मिकों की क्षमता का लाभ उठाने और उन्हें भविष्य की चुनौतियों को स्वीकार करने के लिए तैयार करने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है ।

Sarkaritel
By Sarkaritel June 12, 2020 05:43